भारतवर्ष केवल जमीन का एक टुकड़ा नहीं है, ये हमारे दिल, दिमाग, विचार, व्यवहार में बसने वाला एक अनोखा, प्राकृतिक, सांस्कृतिक, धार्मिंक, आध्यात्मिक भाव है, जिसे हम विभिन्न आशाओं, आकांक्षाओं, पद्वतियों, भाषाओं के माध्यम से प्रकट करते हैं। सुर भले ही अलग है, पर संगीत एक है, बोल अलग हैं, पर गीत एक है, पद्तियां अलग हैं पर सभ्यता एक है।
71वें गणतंत्र दिवस पर्व की आपको और आपके परिवार वालों को हार्दिक शुभकामनायें – श्री राज नेहरू, कुलपति श्री विश्वकर्मा कौशल विश्वविद्यालय एवं मिशन निदेशक, हरियाणा स्किल डेवलपमंेट मिशन, हरियाणा सरकार
Republic Day Wishes 2020